क्या फेल हो रहा है मोदी जी का lockdown ? एक बार भी नहीं सोचा शहरों में फसे गरीब मजदूरों के बारे में,

0
140

23 मार्च 2020 भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने पूरे भारत को लोक डाउन करने की घोषणा की तो मानो लोगों की सांसे रुक सी गई प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहा कि आज से माध्यम रात्रि 12:30 से 21 दिन तक भारत के सभी शहरों मैं लॉक दाम की स्थिति रहेगी यह निर्णय कोरोना वायरस के चलते लिया आपकी जानकारी के लिए बता दें यह वायरस चीन में दिसंबर से ही चल रहा है फरवरी में ही भारत के कई नेताओं ने पहले से ही चिंता जताई थी कि इस वायरस से भारत को बचाने के लिए सरकार जल्द से जल्द कठोर कदम उठाए

लेकिन इस बात को हमारे प्रधानमंत्री जी ने गंभीरता से नहीं लिया और जब वायरस फैलना शुरू हुआ तो जल्दबाजी में लुक डाउन की घोषणा कर दी हमारे प्रधानमंत्री जी ने एक बार भी नहीं सोचा उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग दिल्ली मुंबई गुजरात जैसे बड़े-बड़े शहरों में मजदूरी करके गुजारा कर रहे हैं उनको कैसे सुरक्षित अपने घर पहुंचाया जाए ना ही ऐसे कोई निर्देश दिए जिससे उनकी वहीं शहरों में ही रहने व खाने-पीने व्यवस्था की जाए

जब मजदूर बड़े-बड़े शहरों से पैदल ही चलकर पलायन करने लगे तो सामाजिक लोगों ने सामने आकर उनकी मदद की जिसके बाद यह मुद्दा विपक्षी नेताओं ने भी जोर-शोर से उठाया और सामने आकर लोगों की मदद भी की यही घटनाक्रम तीन-चार दिन लगातार चला जिसके बाद प्रदेश की सरकारों ने उनके जाने की व्यवस्था बसों के माध्यम से की

वहीं दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बॉर्डर से सबसे खराब तस्वीरें सामने आई जिसमें लोग लाखों की संख्या में सड़कों पर एक जगह एकत्रित हो गए इन तस्वीरों को देखकर ऐसा लगा मोनो कोरोनावायरस को ये लोग बुलावा दे रहे हो अगर समय रहते हमारे प्रधानमंत्री जी ने एक बार भी इन गरीबों के बारे में सोचा होता तो शायद ऐसी तस्वीर सामने ना आती