उन्नाव रेप पीड़िता के दुखी परिजनों से मिलने पहुंचे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव

3
243

बीते  5 दिसंबर को उन्नाव में लड़की का रेप कर जिंदा जलाने की कोशिश के बाद लड़की को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ डॉक्टरों ने बताया कि पीड़िता लगभग 90% जल चुकी हैं अब लड़की को बचाना मुश्किल है जिसके बाद पीड़िता को इलाज के लिए दिल्ली भेजा गया पीड़िता ने मरने से पहले सभी आरोपियों के नाम व पहचान बतायी बिगड़ता ज्यादा जली होने के कारण डॉक्टर से बचा नहीं सके और 7 दिसंबर को दिल्ली की हॉस्पिटल में पीड़िता ने अपनी आखिरी सांस ली

इसके बाद ही समाजवादी पार्टी और उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव ने रेप को लेकर आवाज उठाई और प्रशासन से सुरक्षा की मांग करते हुए लखनऊ में विधानसभा के सामने धरने पर बैठ गए उनके साथ ही  समाजवादी पार्टी के तमाम कार्यकर्ता धरने पर बैठे और जिस तरह से पुलिस ने उनके साथ व्यवहार किया उसकी तस्वीरें हैरान कर देने वाली थी यहां तक प्रशासन ने महिला कार्यकर्ताओं के साथ शर्मनाक बल प्रयोग किया जिसमें सपा की कार्यकर्ता  “पूजा यादव बुंदेलखंडी” व अन्य कार्यकर्ताओं को गंभीर चोटें आई थी जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर अत्यधिक वायरल हुई थी 

इसके बाद रेप पीड़िता के परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया और प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ से सुरक्षा की मांग करते हुए मिलने को कहा इसके बावजूद भी मुख्यमंत्री जी को उनसे  मिलना जरूरी नहीं लगा और ना ही परिजनों से मुलाकात की मदद के नाम पर उन्होंने परिजनों को 25 लाख रुपए और बहन को सरकारी नौकरी देने का आश्वासन दिया 

इसके बाद आज समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव पीड़िता के घर उन्नाव में मिलने पहुंचे और उनका हालचाल जाना है उनकी समस्याएं सुनी और उन्हें आश्वासन दिलाया पार्टी प्रदेश में हो रहे महिलाओं पर अत्याचार के खिलाफ समय-समय पर ऐसे ही आवाज उठाती रहेगी और समाजवादी पार्टी की सरकार आने पर परिवार को और अधिक मदद दी जाएगी उन्होंने कहा कि हम परिवार के प्रति गहरा दुख व्यक्त करता हूं  

अब देखने वाली बात यह होगी कि जो भारतीय जनता पार्टी महिलाओं के प्रति इतनी गंभीरता दिखाती है क्या ऐसी घटनाओं को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रोक पाएंगे जो अन्य पार्टियों पर ऐसे अपराध पर सवाल उठाती रहेंगे क्या अब वे स्वयं कानून व्यवस्था को सुधार पाएंगे जाइए सिर्फ दिखावे की राजनीति करते रहेंगे  बता दें उनकी पार्टी से काम लेता संबंध रखने वाले स्वयं ही ऐसी घटनाओं को बढ़ावा देते हैं फिर चाहे वो  कुलदीप सिंह सेंगर चिन्मयानंद जैसे ही अपराधी क्यों ना हो क्या भाजपा ऐसे नेताओं को संरक्षण देना बंद करेगी